All Budgets

 TitleReleased onUploaded on 
वर्ष 2017-18 में क्षेत्र पंचायत के अधिष्ठान में प्राविधानित धनराशि के सापेक्ष धनराशि का व्यय हेतु आव11/Dec/201714/Dec/2017alternate text
जिला पंचायत प्रशासन में प्राविधानित धनराशि के सापेक्ष व्यय हेतु धनराशि का आवंटन।07/Dec/201714/Dec/2017alternate text
वित्तीय वर्ष 2017-18 अनुदान सं0-81 में SBM(G) योजना अन्तर्गत राज्य स्तर से केन्द्रांश आवटंन30/Nov/201705/Dec/2017alternate text
वित्तीय वर्ष 2017-18 अनुदान सं0-83 में SBM(G) योजना अन्तर्गत राज्य स्तर से केन्द्रांश आवटंन01/Dec/201705/Dec/2017alternate text
वित्तीय वर्ष 2017-18 अनुदान सं0&14 में SBM(G) योजना अन्तर्गत राज्य स्तर से केन्द्रांश आवटंन30/Nov/201705/Dec/2017alternate text
Budgets Regarding SFC 24 Nov15/Nov/201722/Nov/2017alternate text
अनुदान सं0-83 के अधीन लेखाशीर्षक 2515 के अन्तर्गत शौचालय निर्माण हेतु (के.60रा.40/के.60रा.) में आवंट20/Nov/201722/Nov/2017alternate text
अनुदान सं0-14 के अधीन लेखाशीर्ष 2515 के अन्तर्गत शौचालय निर्माण हेतु (के.60रा.40/के.60रा.) में आवंटि20/Nov/201722/Nov/2017alternate text
वित्तीय वर्ष 2017.18 में स्वच्छ भारत मिशन(ग्रा0) अन्तर्गत कुल धनराशि का आवंटन01/Nov/201702/Nov/2017alternate text
वित्तीय वर्ष 2017.18 में अनुदान हेतु जिला पंचायत प्रशासन के अन्तर्गत व्यय चिकित्सा प्रतिपूर्ति में आ31/Oct/201702/Nov/2017alternate text
वित्तीय वर्ष 2017.18 में अनुदान हेतु जिला पंचायत प्रशासन के अन्तर्गत व्यय चिकित्सा प्रतिपूर्ति में आ30/Oct/201702/Nov/2017alternate text
छठवाॅ आवंटन24/Oct/201725/Oct/2017alternate text
वित्तीय वर्ष 2017-18 अनुदान संख्या-14 में SBM(G) योजना के अन्तर्गत राज्य स्तर से क्रमशः केन्द्रांश र13/Oct/201716/Oct/2017alternate text
वित्तीय वर्ष 2017-18 अनुदान संख्या-83 में SBM(G) योजना के अन्तर्गत राज्य स्तर से क्रमशः केन्द्रांश र13/Oct/201716/Oct/2017alternate text
चालू वित्तीय वर्ष 2017-18 में अनुदान संख्या-14 के अधीन लेखाशीर्षक 2515-अन्य ग्राम विकास कार्यक्रम-8011/Oct/201713/Oct/2017alternate text
12345678910...


Selected Document Details

No document is selected.

This website is designed & hosted by National Informatics Centre UP State Unit Lucknow. Content provided on this website is owned by Panchayati Raj Department.